Home अच्छी खबरें आज के दिन ही भारत ने रचा था इतिहास, जानें क्या????

आज के दिन ही भारत ने रचा था इतिहास, जानें क्या????

75
0
SHARE

क्रिकेट इतिहास में आज का दिन यानी 14 मार्च बेहद खास है. 2001 में इसे दिन कोलकाता के ईडन गार्डन पर वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ ऐसी साझेदारी की जिससे ऑस्ट्रेलिया का गुरूर तोड़ डाला था। इसी के बाद लक्ष्मण को वेरी-वेरी स्पेशल और द्रविड़ को द वॉल का खिताब मिला।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के दूसरे टेस्ट के चौथे दिन कि सुबह भारत के लिए कुछ भी अनुकूल नहीं था। मुंबई में पहला टेस्ट हार चुकी भारतीय टीम कोलकाता के ईडन गार्डन में फॉलोऑन पारी खेल रही थी, तीसरे दिन के खेल की समाप्ति पर भारत का स्कोर 254 पर 4 रन था और वह ऑस्ट्रेलिया से अभी 20 रन पीछे थी. भारत की हार सामने दिख रही थी लेकिन लक्ष्मण 109 बनाकर अब भी क्रीज पर जूझ रहे थे। राहुल द्रविड़ 155 गेंदों में 7 रन बनाकर उनका साथ दे रहे थे।

लेकिन चौथे दिन कुछ ऐसा हुआ जिसके बारे में किसी ने सोचा तक नहीं था। पूरे दिन की बल्लेबाजी में भारत का एक भी विकेट नहीं गिरा और उसको 589 पर 4 रन था। पांचवे विकेट के लिए लक्ष्मण नाबाद 275 और द्रविड़ नाबाद 155 रन यानी टोटल 357 रन जोड़ चुके थे।

पांचवें दिन भूल 376 रनों की भागीदारी के बाद लक्ष्मण अविश्वसनीय 281 रनों की पारी खेलकर लौटे, जबकि द्रविड़ 180 रन बनाकर रन आउट हुए थे। भारत ने अपनी अपनी फॉलोऑन पारी 657  पर 7 घोषित कर दी।

आखिरकार ऑस्ट्रेलिया के समक्ष जीत के लिये 384 रनों के लक्षय रखने के बाद भारत ने इतिहास रचा हरभजन सिंह की गेंद को पैड पर लेते पुछल्ले ग्लेन मैकग्रा पकड़े गए और अंपायर एसके बंसल ने उंगली उठा दी। इसके साथ ही भारत ने टेस्ट मैच 171 रनों से जीत लिया था,  ऑस्ट्रेलियाई टीम 68.3 ओवरों में 212 रन बनाकर ढेर हो गई।

इसके साथ ही भारत ने स्टीव वॉ की कप्तानी वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम का टेस्ट क्रिकेट में लगातार 10वीं सीरीज जीतने में वर्ल्ड रिकॉर्ड का सपना चकाचुर कर दिया था। उस समय भारतीय टीम की कमान सौरव गांगुली के हाथों में थी।